Home / छत्तीसगढ़ / बच्ची को पेंट्रीकार से नहीं मिला गर्म पानी, IRCTC ने लगाया जुर्माना

बच्ची को पेंट्रीकार से नहीं मिला गर्म पानी, IRCTC ने लगाया जुर्माना

बिलासपुर। चेन्नई-बिलासपुर एक्सप्रेस में सफर कर रहे 8 माह की बीमार बच्ची के लिए गरम पानी मांगने पेंट्रीकार गए पिता को कर्मचारियों ने भगा दिया। इससे नाराज पिता ने ट्विटर के माध्यम से मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे व आईआरसीटीसी को शिकायत की। मामले में पेंट्रीकार संचालक के खिलाफ आईआरसीटीसी ने 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

तिफरा निवासी गणेश यादव की 8 वर्षीय बेटी वेदिका दिल की मरीज है। पिता व परिवार के सदस्य दो महीने पहले ऑपरेशन कराने चेन्नई गए थे। मंगलवार को चेन्नई एक्सप्रेस से लौट रहे थे। उनका रिजर्वेशन कोच बी-2 में था। ऑपरेशन के कारण चिकित्सकों ने खानपान पर विशेष परहेज की हिदायत दी है।

सफर लंबा होने के कारण उनके पास रखा गरम पानी खत्म हो गया। ऐसे में पिता ट्रेन की पेंट्रीकार से गरम पानी मांगा। पहले तो कर्मचारियों ने आनाकानी की। बाद में 10 रुपए लेकर पानी उपलब्ध कराया। इधर ऑपरेशन के कारण थोड़ी-थोड़ी देर में बच्ची का गला सूख रहा था।

थोड़ी देर में पेंट्रीकार से दिया गया पानी भी खत्म हो गया। लिहाजा दोबारा फिर पानी के लिए पहुंचे। उन्हें बच्ची का ऑपरेशन होने की जानकारी दी गई। लेकिन कर्मचारियों ने यह कहते हुए भगा दिया कि 50 रुपए लगेंगे। इसमें भी वह राजी थे। लेकिन कर्मचारियों ने पानी नहीं मिलने की बात कहते हुए पिता को पेंट्रीकार से भगा दिया।

पिता बार-बार निवेदन करते रहे लेकिन कर्मचारियों का दिल नहीं पसीजा। उस समय ट्रेन नागपुर से गोंदिया के बीच थी। इधर प्यास से बच्ची बेहाल होने लगी। कोच के अन्य यात्रियों ने दोबारा पेंट्रीकार के कर्मचारियों से निवेदन करने की बात कही।

बच्ची की खातिर दूसरी बार पिता पहुंचे। लेकिन कर्मचारियों ने मदद नहीं की। जिस पर नाराज पिता ने ट्विटर के माध्यम से मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे और उसके बाद आईआरसीटीसी से शिकायत की। हालांकि इसके बाद भी मदद नहीं मिली। बच्ची को ठंडा पानी पिलाना पड़ा। जैसे- तैसे वे बिलासपुर पहुंचे।

चूंकि इस ट्रेन के पेंट्रीकार की जिम्मेदारी बिलासपुर आईआरसीटीसी के पास है। इसलिए मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे से शिकायत की जानकारी भेजते हुए उचित कार्रवाई करने का आदेश दिया गया। लिहाजा गुरुवार को आईआरसीटीसी ने संचालक पर कार्रवाई करते हुए 10 हजार रुपए जुर्माना किया है। मालूम हो इस ट्रेन की पेंट्रीकार का ठेका दिल्ली की सनराज हास्पिटायलेटी लिमिटेड को दिया गया है।

आदेश का उल्लंघन, नहीं पहुंचा पेटी कांट्रेक्टर

सनराज हास्पिटायलेटी लिमिटेड ने पेंट्रीकार को शहर के राजेश नायडू नाम के किसी व्यक्ति को पेटी कांट्रेक्ट पर दे रखा है। इसकी जानकारी मिलने के बाद आईआरसीटीसी ने पेटी कांट्रेक्टर को कार्यालय में तलब होने का आदेश दिया। लेकिन वह नहीं आया। अब इस मामले में नोटिस जारी करने की तैयारी है।

x

Check Also

बनाते थे हथियारों के फर्जी लाइसेंस

इंदौर |हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के सरगना प्रदीप सागवान और संदीप ...